संभल 11 अक्टूबर: नखासा थाना पुलिस ने आईपीएल की सट्टेबाजी में चार लोगों को पकड़ा है। जबकि तीन आरोपी पुलिस को चकमा देने में कामयाब रहे। आरोपी सट्टेबाजी पर खाईबाड़ी कर रहे थे। मौके से पुलिस ने एलसीडी और मोबाइल बरामद किए हैं। इस सट्टेबाजी का खुलासा पुलिस क्षेत्राधिकारी ने किया। आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर जेल भेजने की कार्रवाई हुई है।

शनिवार को संभल कोतवाली में पुलिस क्षेत्राधिकारी अरूण कुमार सिंह ने सट्टेबाजी का खुलासा करते हुए बताया कि शुक्रवार की रात नखासा थाना प्रभारी निरीक्षक धर्मपाल सिंह को सूचना मिली कि मोहल्ला तिमरदास सराय में साजिद हुसैन के मकान के अंदर कुछ लोग आईपीएल क्रिकेट मैच पर सट्टेबाजी की खाईबाड़ी कर रहे हैं। सूचना पर सक्रिय हुए प्रभारी निरीक्षक ने फोर्स के साथ मौके पर दबिश दी।


पुलिस को आता देख आरोपी भागने लगे। पुलिस ने घेराबंदी कर चार लोग पकड़ लिए। जबकि तीन लोग भागने में कामयाब रहे। पकड़े गए आरोपियों ने अपनी पहचान मोहल्ला तिमरदास सराय निवासी साजिद हुसैन, मोहल्ला शहबाजपुरा निवासी फहीम, बुद्धावाली मस्जिद निवासी समीर और कोतवाली संभल क्षेत्र के शेर खां सराय निवासी सादाब अख्तर के रूप में कराई।

वहीं भागे हुए आरोपियों की पहचान दीपा सराय निवासी आरिफ, उमर और गुलजार के रूप में कराई गई। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से 10200 रुपये, 12 मोबाइल फोन, व सट्टेबाजी में इस्तेमाल होने वाली अन्य सामग्री बरामद की। पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि वह लोग आईपीएल क्रिकेट मैच पर सट्टेबाजी की खाईबाड़ी करते हैं। एक बॉल पर 100 रुपये, चौके पर 1000 रुपये, छक्के पर 2000 हजार व शतक लगाने पर दस हजार रुपये के हिसाब से सट्टा लगाते हैं। पुलिस ने चारों आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर जेल भेज दिया।


इस टीम ने की सट्टेबाजों की गिरफ्तारी सट्टेबाजी का खुलासा करने वाली टीम का नेतृत्व प्रभारी निरीक्षक धर्मपाल सिंह ने किया। इनके साथ उप निरीक्षक शिव प्रभात सिंह, प्रमोद कुमार, बलराम सिंह, महिला उप निरीक्षक प्रेरणा यादव, कांस्टेबल अजय कुमार, बलवंत सिंह, यशवंत सिंह, विकेश कुमार, अनुज कुमार, महिला कांस्टेबल संजू चौधरी और प्रीति तौमर शामिल रहे।