करांची 18 नवंबर: पाकिस्तान सुपर लीग के पांचवें सीजन में कराची किंग्स, लाहौर कलंदर्स को मात देकर पहली बार चैंपियन बनने में कामयाब हो गया है.

लाहौर ने पहले बल्लेबाजी करते हुए कराची के सामने 135 रन की चुनौती रखी थी, जिसे किंग्स ने 18.4 ओवर में पांच विकेट खोकर हासिल कर लिया. कराची किंग्स की जीत के हीरो स्टार खिलाड़ी बाबर आजम रहे जिन्होंने 63 रन की नाबाद पारी खेली.

बाबर आजम को ना सिर्फ फाइनल मैच में मैन ऑफ द मैच चुना गया बल्कि वह मैन ऑफ द टूर्नामेंट का खिताब हासिल करने में में भी कामयाब रहे. बाबर आजम ने पीएसएल के पांचवें सीजन में 59.12 के आसौत से 473 रन बनाए और वह इस टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे.

फाइनल मुकाबले की बात करें तो लाहौर की टीम टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी थी. लाहौर को तमीम इकबाल और फखर जमां ने अच्छी लेकिन धीमी शुरुआत दी. दोनों बल्लेबाजों ने 10.1 ओवर में 68 रन जोड़े. उमान आसिफ ने लाहौर की पारी के 11वें ओवर में दोनों ओपनर्स को पवेलियन वापस भेज दिया. इसके बाद लाहौर की पारी पूरी तरह से लड़खड़ा गई और कोई भी बल्लेबाज 14 रन से ज्यादा की पारी नहीं खेल पाया.

निर्धारित 20 ओवर में लाहौर कलंदर्स 7 विकेट के नुकसान पर 135 रन बना पाई. कराची के लिए मसूद, इकबाल और आसिफ ने 2-2 विकेट लिए, जबकि कप्तान इमाद को एक विकेट मिला.

135 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी कराची की शुरुआत भी ज्यादा अच्छी नहीं रही और 3.1 ओवर में 23 के स्कोर पर शर्जिल 13 रन बनाकर पवेलियन वापस लौट गए. एलेक्स हेल्स भी फाइनल मुकाबले में बड़ी पारी खेलने में नाकाम रहे और उन्होंने 11 रन बनाए.

इसके बाद बाबर ने एक छोर संभाले रखा और वाल्टिन के साथ मिलकर पारी को आगे बढ़ाया. दोनों बल्लेबाजों के बीच तीसरे विकेट के लिए 61 रन की साझेदारी हुई. बाबर ने अंत में 63 रन की पारी खेलकर कराची किंग्स को पहली बार विजेता बनाया. लाहौर के लिए राउफ और हुसैन ने दो-दो विकेट लिए.