खेलबिहार न्यूज़

पटना 29 दिसंबर :2011 में खेले गए वर्ल्ड कप में भारतीय क्रिकेट टीम के हीरो रहे युवराज सिंह को बड़ा झटका लगा है. भारतीय टीम के पूर्व ऑलराउंडर युवराज सिंह के फैंस उनकी वापसी की उम्मीद लगाए हुए थे. वहीं इस बीच BCCI ने उनके सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में खेलने की सिफारिश को नामंजूर कर दिया है.

साल 2019 में 10 जून को युवराज सिंह ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लिया था. जिसके बाद पंजाब की टीम ने युवराज से अपील की थी कि वह अगले साल होने वाले सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी से अपनी वापसी कर सकते हैं. युवराज ने उस प्रस्ताव को अपनाते हुए BCCI में अपने संन्यास के बाद वापसी करने की अर्जी लगाई थी. वहीं BCCI ने पंजाब की ओर से युवराज के खेलने की अपील को नामंजूर कर दिया है.

साल 2011 में खेले गए विश्व कप के दौरान युवराज सिंह को ‘प्लेयर आफ द टूर्नामेंट’ चुना गया था. युवराज सिंह ने भारत के लिए कुल 304 वनडे, 40 टेस्ट और 58 टी20 मैच खेले हैं. इसके बाद भारत की ओर से संन्यास लेने के बाद युवराज सिंह ने कनाडा में ग्लोबल टी20 लीग में भी हिस्सा लिया था. पंजाब क्रिकेट असोसिएशन की सीनियर सलेक्शन कमेटी ने युवराज से वापसी की उम्मीद के साथ ही टीम के मेंटोर काम करने की बात कही है.