बड़ौदा 15 जुलाई : 26 वर्षीय हुडा के अपनी राज्य टीम छोड़ने के फैसले ने फैंस के होश उड़ा दिए हैं। हुडा अब बड़ौदा के लिए खेलते हुए नजर नहीं आएंगे और भारत के पूर्व हरफनमौला खिलाड़ी इरफान पठान ने इसे बड़ौदा का ही नुकसान बताया है। इरफान ने बड़ौदा के इतने प्रतिभाशाली क्रिकेटर को खोने पर अपनी नाराजगी व्यक्त की है।

दीपक हुड्डा, जो घरेलू स्तर पर बड़ौदा के लिए खेलते हैं उन्होंने ने अब एक बड़ा फैसला लेते हुए बड़ौदा का साथ छोड़ दिया है। इसी साल की शुरुआत में बड़ौदा के कप्तान क्रुणाल पांड्या के साथ हाथापाई के बाद हुडा को निलंबित कर दिया गया था। निलंबन के कारण, हुड्डा इस साल सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी और विजय हजारे ट्रॉफी नहीं खेल सके थे।

इरफान पठान ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करते हुए लिखा,“भारतीय टीम की संभावित सूची में शामिल होने वाले कितने खिलाड़ियों को क्रिकेट संघ छोड़ेंगे? दीपक हुड्डा का बड़ौदा क्रिकेट छोड़ना एक बहुत बड़ी क्षति है। वह आसानी से दस साल के लिए अपनी सेवाएं दे सकते थे क्योंकि वह अभी भी युवा है। एक बरोडियन के रूप में यह पूरी तरह से निराशाजनक है!